Please wait...

Pressvarta

In detail

Awesome Image
31
December

मुक्तिधाम नाटक में दिया बुजुर्गों के सम्मान का संदेश

सिरसा(प्रैसवार्ता)। हरियाणा कला परिषद एवं केएल थियेटर के संयुक्त तत्वावधान में बीते रविवार को सीएमके गल्र्ज कॉलेज के ऑडिटोरियम में नाटक मुक्तिधाम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ. राजकुमार सिवाच थे जबकि विशिष्ट अतिथियों में विवेकानंद स्कूल के संचालक रामसिंह यादव, समाजसेवी नवीन केडिया, आनंद बियाणी, सोमप्रकाश सेतिया, राजकुमार शर्मा एवं चिकित्सक डॉ. राजकुमार डूमरा शामिल हुए। केएल थियेटर एवं नाटक के निर्देशक कर्ण लढा ने बताया कि मुक्तिधाम नाटिका के माध्यम से समाज की उस नवीन पीढ़ी को संदेश दिया गया जिसमें अपने बुजुर्गों को उचित सम्मान दिए जाने को गहराई से दर्शाया गया। नाटिका के माध्यम से कलाकारों ने इतनी मर्मस्पर्शी अंदाज में अपना अभिनय निभाते हुए उस व्यवस्था को दर्शाया जिसमें अधिकांश परिवारों में बुजुर्गों को अतिरिक्त मानकर उन्हें यथोचित सम्मान नहीं दिया जाता। इन्हीं भावों को प्रदर्शित करते हुए दर्शाया गया कि एक युवा किस प्रकार अपने दैनिक जीवन की भागदौड़ में अपनी माता को वृद्धाश्रम में छोड़कर जाने की कोशिश करता है मगर वहां उत्पन्न परिस्थितियां उसे इस निष्कर्ष पर पहुंचाती हैं कि घर के बड़े बुजुर्ग अमूल्य हैं और उनका आशीर्वाद जीवन के लिए बेहद आवश्यक है। दर्शाया गया कि जब तक युवा इस संदेश को अपने जीवन में समझ पाता है तब तक उनकी माता का देहांत हो जाता है और वह उनके निधन के बाद ही उनकी महत्ता को समझ पाता है। इस संवेदनशील मुद्दे पर आधारित नाटिका ने सब उपस्थितजनों को भावुक कर दिया और जीवन में बड़ों के होने का महत्व भी दर्शा गया। उपस्थित अतिथियों ने मुक्तकंठ से नाटिका एवं सभी कलाकारों कार्तिकेय खट्टर, नीरज निर्मल कुमार, पवनदीप, यशस्विनी खुराना, नितिन लूना, निखिल लूना, अनामिका, कुणाल मोयल, गुरप्रीत, अस्तित्व के अभिनय की प्रशंसा की। वहीं निर्देशक कर्ण लढ़ा ने अंत में कहा कि उक्त नाटिका हरियाणा कला परिषद के उपाध्यक्ष सुदेश शर्मा व निर्देशक अनिल कौशिक के सहयोग एवं समन्वय से ही सिरसा में इस नाटिका का मंचन संभव हो पाया। मंच संचालन अमित लढा ने किया।